शुक्रवार, 2 अक्तूबर 2009

मेरा पहला दिन

ब्लॉगिंग की दुनिया में प्रवेश कर रहा हूँ ग़ालिब के इस शेर के साथ
है और भी दुनिया में सुख़नवर बहुत अच्छे
कहते हैं कि ग़ालिब का है अन्दाज़े बयाँ और
आप सभी को मेरा अभिवादन - अंसार अहमद

1 टिप्पणी:

  1. ब्लॉगिंग की दुनिया में प्रवेश पर ढेर सारी शुभकामनाये । उम्मीद है यहाँ आपको बेहतर रचने का अवसर मिलेगा और आपकी प्रतिभा परवान चढ़ेगी - शुभकामनायें शरद

    उत्तर देंहटाएं